दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित हुए अमिताभ बच्चन

हिंदी सिनेमा के महानायक कहे जाने वाले अभिनेता अमिताभ बच्चन को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 29 दिसंबर 2019 को भारतीय सिनेमा के सर्वोच्च सम्मान दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से संम्मानित किया।

वर्ष 2018 के लिए यह पुरस्कार उन्हें नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रदान किया।

अमिताभ बच्चन 'मेगा स्टार' और 'बिग बी' के नाम से भी जाने जाते हैं, उनकी पहली फ़िल्म 'सात हिंदुस्तानी' थी जो 1969 में रिलीज़ हुई थी।

अमिताभ बच्चन को चार राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार और 15 फ़िल्मफेयर अवॉर्ड समेत कई पुरस्कार मिल चुके हैं। वर्ष 2015 में उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

दादा साहेब फाल्के पुरस्कार

 यह भारतीय सिनेमा का सर्वोच्च पुरस्कार है जो, सूचना और प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा भारतीय सिनेमा के पितामह कहे जाने वाले दादा साहब फाल्के के नाम पर दिया जाता है।

यह पुरस्कार दादा साहब फाल्के की जन्मशती के अवसर पर 1969 में भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया था।

इस पुरस्कार के अंतर्गत विजेता को दस लाख रुपये नकद, स्वर्ण कमल पदक व एक शाल प्रदान की जाती है।

पहली बार यह सम्मान अभिनेत्री देविका रानी को प्रदान किया गया था।

अब तक भारतीय सिनेमा से जुड़े 65 हस्तियों को यह पुरस्कार मिल चुका है। 

इससे पहले यह पुरस्कार साल 2017 के लिए अभिनेता स्वर्गीय विनोद खन्ना को दिया गया था।

कौन थे दादासाहब फाल्के?

दादा साहेब फाल्के का पूरा नाम धुंडिराज गोविंद फाल्के था, उन्हें भारतीय सिनेमा का जनक माना जाता है।

1913 में उनकी बनाई मूक फिल्म 'राजा हरिश्चंद्र' भारत की पहली फीचर फिल्म है।